Aabroo

आबरू

एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
वर्ष: १९४३
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
लेबल: सारेगामा
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
फ़िल्म क्रेडिट: निर्देशक: नज़ीर. अभिनेता: सितारा, याकूब, जगदीश, नज़ीर, मसूद, शाकिर, वत्सला कुमठेकर, लड्डन, चन्दा बाई, जनार्दन शर्मा. प्रोडक्शन कं.: हिन्द पिक्चर्स.
 
 



गाने


 
के लूट लिया
 
गायक: वत्सला कुमठेकर
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
नैया हमारी पार लगाओ
गायक: सितारा देवी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
इन्ही लोगों ने ले ली ना दुपट्टा मेरा
गायक: याकूब
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी, हिन्दुस्तानी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
पिया मिलन की रुत आई है
गायक: सितारा देवी, जी.एम. दुर्रानी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
ये ग़म का फ़साना है
गायक: सितारा देवी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: रज्जन
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
गोरी बाँके नयन से चलाये जदुआ
गायक: सितारा देवी, जी.एम. दुर्रानी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी, हिन्दुस्तानी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
सौतन के घर ना जैयो
गायक: सितारा देवी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी, हिन्दुस्तानी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
हाय किसी की याद सताए
गायक: सितारा देवी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
पूने से लाई पान रे
गायक: सितारा देवी, नज़ीर अहमद
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
हमारी ज़िन्दगी क्या है
गायक: सितारा देवी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
दुःख दर्द के मारे है
 
गायक: सितारा देवी
संगीतकार: गोविंद राम
गीतकार: तनवीर नकवी, रज्जन, स्वामी रामानंद सरस्वती, हसरत लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 

    गीत

  • इन्ही लोगों ने ले ली ना दुपट्टा मेरा - इस गीत के बोल और धुन शायद लोकगीत से लिए गए हैं. इसे हिन्दी फ़िल्मों में अलग अलग रूप में दो बार और प्रस्तुत किया गया था - एक "हिम्मत" (१९४१) में और दूसरा "पाकीज़ा" (१९७१) में.[1][2]



सन्दर्भ


 

प्रतिक्रिया