Biwi Aur Makan

बीवी और मकान

एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
वर्ष: १९६६
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
लेबल: सारेगामा
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
एल्बम क्रेडिट: MUSIC ASSISTANTS: Manohari, Shyam, Alfonso.
 
फ़िल्म क्रेडिट: निर्देशक: हृषिकेश मुखर्जी. निर्माता: हेमंत कुमार. कथा: शैलेश दे, हृषिकेश मुखर्जी. पटकथा: सचिन भौमिक. संवाद: रजिन्दर सिंह बेदी. अभिनेता: बिस्वजीत , अधिक...
 



गाने


 
खुल सिमसिम खुल्लम खुल्ला
गायक: बुला गुप्ता, मन्ना दे, हेमंत कुमार
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
जब दोस्ती होती है तो
गायक: मन्ना दे, हेमंत कुमार, ग़ुलाम मोहम्मद, एस. बलबीर
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
रहने को घर दो
गायक: मन्ना दे
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
दुनिया में दो सयाने
गायक: जयंत मुखर्जी, मन्ना दे, हेमंत कुमार
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
आ था जब जनम लिया था
गायक: मन्ना दे, मुकेश, हेमंत कुमार
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी, हिन्दुस्तानी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
दबे लबों से कभी कोई जो सलाम ले ले
गायक: आशा भोसले, लता मंगेशकर
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
जाने कहाँ देखा है
गायक: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी, सुगम, मिश्रण
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
सावन में बरखा सताए
गायक: हेमंत कुमार
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
अनहोनी बात थी हो गई है
गायक: जोगिंदर, तलत महमूद, मन्ना दे, मुकेश, हेमंत कुमार
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
ऐसे दाँतों में उंगली दबाओ नहीं
गायक: उषा मंगेशकर, आशा भोसले
संगीतकार: हेमंत कुमार
गीतकार: गुलज़ार
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 

    गीत

  • खुल सिमसिम खुल्लम खुल्ला - यह गीत ऐल्बर्ट वॉन टिलज़र द्वारा रचित और लू ब्राउन द्वारा लिखित गीत "ओ बाइ जिंगो" (१९१९) पर आधारित थी. इस गीत को मार्ग्रेट यंग, चेट ऐट्किंज़ और डैनी के जैसे अनेक कलाकारों ने रेकॉर्ड किया था. भारत में इस गीत की धुन को बंगाली फ़िल्म गीत "शिंग नेई तोबू" ("लूकोचूरी", १९५८) और हिन्दी फ़िल्म गीत "दाल कैसे गले" ("बाप रे बाप", १९५५) में भी इस्तमाल किया था.[1][2][3][4]
  • सावन में बरखा सताए - Hemant Kumar originally composed this tune for the Bengali film song "Ashar Shrabon Mane Na To Mon" ("Monihar", 1965). The Bengali song was sung by Lata Mangeshkar and penned by Mukul Dutt.[5]



सन्दर्भ


 

प्रतिक्रिया